Har Din News | Today Hindi news

Jhalawar-baran Lok Sabha seat: इंडिया गठबंधन भ्रष्टाचार और परिवार बचाओं गठबंधन: नड्डा

इंडिया गठबंधन भ्रष्टाचार और परिवार बचाओं गठबंधन: नड्डा

Jhalawar-baran Lok Sabha seat:भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने इंडिया एलायंस को भ्रष्टाचार से लड़ने और परिवार व पार्टी को बचाने वाला गठबंधन करार दिया है।Jhalawar-baran Lok Sabha seat:उन्होंने दावा किया है कि गठबंधन के नेताओं को देश से कोई लेना-देना नहीं है और उनका ध्यान सिर्फ अपने परिवार और पार्टी को बचाने पर है। यह सब बाद की बात है, जबकि भाजपा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देशन में देश को आगे बढ़ाने का काम कर रही है।

Jhalawar-baran Lok Sabha seat

Jhalawar-baran Lok Sabha seat:आज जेपी नड्डा ने भ्रष्टाचार और परिवारवाद पर क्या कहा, पढ़ें

जेपी नड्डा बुधवार को यहां लोकसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशी दुष्यंत सिंह के समर्थन में आयोजित जनसभा में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि इंडिया गठबंधन दो ही चीजों का गठबंधन हैं, एक तो भ्रष्टाचार बचाओं और दूसरा परिवार एवं पार्टी बचाओं गठबंधन। उन्होंने कहा कि इसमें परिवार की पार्टियां जिसमें अध्यक्ष, पार्लियामेंट्री बोर्ड(parliamentary board), जनरल सेक्रटरी आदि में परिवार के लोग और यह गठबंधन परिवारवादी पार्टियों का गठबंधन हैं। यह भी कहा कि नेताओं ने कोई ऐसा क्षेत्र नहीं छोड़ा जहां भ्रष्टाचार या घोटाले की समस्या न हो। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल(Chief Minister Arvind Kejriwal) द्वारा किए गए शराब धोखाधड़ी जैसे विभिन्न नेताओं द्वारा किए गए घोटालों के बारे में उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता सोनिया गांधी और राहुल गांधी दोनों जमानत पर हैं।

गठबंधन के अधिकांश नेता जेल में हैं।इनका देश से कोई लेना देना नहीं हैं और वह अपने परिवार को बचाने और मौज-मस्ती करने के लिए पार्टी आयोजित करने में व्यस्त है।उन्होंने कहा कि मोदी के नेतृत्व में गांवों की छवि बदल गई है। भारत में 18000 गांव ऐसे थे जहां बिजली नहीं थी। वर्ष 2014 में मोदी भारत के प्रधान मंत्री चुने जाने के बाद से 18000 गांवों को बिजली देकर मजबूत करने के प्रयास किए गए हैं। साढ़े तीन लाख गांवों को पक्की सडक से प्रधानमंत्री गांव सड़क योजना के माध्यम से जोड़ा गया है। पांच लाख गांव स्वच्छता अभियान के तहत जुड़े हैं और 12 करोड़ शौचालय बनाये गए है।

Jhalawar-baran Lok Sabha seat:मोदी सरकार की क्या-क्या गारंटियां अभी चल रही हैं ,जानें

उन्होंने कहा कि मोदी के नेतृत्व में गांवों की छवि बदल गई है। भारत में 18000 गांव ऐसे थे जहां बिजली नहीं थी। वर्ष 2014 में मोदी भारत के प्रधान मंत्री चुने जाने के बाद से 18000 गांवों को बिजली देकर मजबूत करने के प्रयास किए गए हैं। साढ़े तीन लाख गांवों को पक्की सडक से प्रधानमंत्री गांव सड़क योजना के माध्यम से जोड़ा गया है।

पांच लाख गांव स्वच्छता अभियान के तहत जुड़े हैं और 12 करोड़ शौचालय बनाये गए है।उन्होंने गरीब कल्याण की स्थिति के बारे में बात करते हुए उन्होंने अपनी टिप्पणी में कहा कि गरीब कल्याण योजना के तहत देश भर में 80 करोड़ लोगों को पांच किलोग्राम गेहूं या चावल के साथ-साथ एक किलो दाल भी मिलती है।उन्होंने कहा कि चार करोड़ कच्चे घर प्रधानमंत्री आवास योजना में पक्के हो गए। इसके तहत राजस्थान में 20 लाख कच्चे घरों को पक्का करने का काम किया गया है और यदि आप दुष्यन्त सिंह को पाँचवीं बार संसद में बुलाएँगे तो कोई कच्चा मकान नहीं बचेगा।नड्डा ने कहा कि देश में 55 करोड़ 40 प्रतिशत आबादी को आयुष्मान योजना के तहत पांच लाख रुपए तक इलाज कराने की व्यवस्था की गई हैं।

JP Nadda :राजस्थान विधानसभा में महिला आरक्षण पर क्या बोले ?

उन्होंने कहा कि दलितों का भी ध्यान रखा गया हैं और दलित का बजट तिगुना कर विकास की योजना को आगे बढाया गया है और योजना में दो लाख दलितों ने लाभ उठाया हैं।उन्होंने कहा कि महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए नारी शक्ति वंदन विधयेक पारित किया गया जिससे अब महिलाओं को राजस्थान विधानसभा में भी 33 प्रतिशत महिलाओं को आरक्षण मिलेगा। उन्होंने यह भी कहा कि इस तरह से सभी योजनाएं, यहां तक कि विकास के कार्यक्रम भी देश को सही दिशा में आगे बढ़ाएंगे।उन्होंने कहा कि राजस्थान के लिए रेल बजट सात गुना बढ़ा दिया गया और राजस्थान (Rajasthan)को 23 मेडिकल दिए गए हैं जिनमें 11 बनकर तैयार हो गए हैं और हर तरीके से विकास हो रहा है।
उन्होंने कहा कि आज देश की अर्थव्यवस्था 11वें स्थान से पांचवे स्थान पर पहुंच गई हैं और नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में अब भारत दुनियां में तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवसथा बन जायेगा।उन्होंने कहा कि भारत हर क्षेत्र में तरक्की कर रहा है और आज ओटो मोबाइल में भारत ने जापान को पछाड़कर दुनियां का तीसरा बाजार बना हैं। पहले देश में 92 प्रतिशत मोबाइल विदेश से आये करते थे लेकिन आज 97 प्रतिशत मोबाइल(Today 97 percent mobile) भारत में बनते हैं।

Exit mobile version