fbpx

Rajasthan Gold Mine: भूकिया-जगपुरा खान सोने के साथ ही उगलेगी प्रदेश के लिये राजस्व

Date:

Rajasthan Gold Mine: राजस्थान की पहली सोने की खदान बांसवाड़ा के भूकिया-जगपुरा में न केवल सोना मिलेगा, बल्कि औद्योगिक निवेश और रोजगार के नए अवसर भी पैदा होंगे। Rajasthan Gold Mine: राजस्थान की खान सचिव आनंदी ने बताया कि भूकिया जगपुरा में खनन पट्टे से सरकार को 500 करोड़ रुपए का अग्रिम भुगतान मिलेगा। पहली किस्त 15 दिन के भीतर 100 करोड़ रुपए की होगी।

 Rajasthan Gold Mine

पहली किस्त 15 दिन के भीतर 100 करोड़ रुपए की होगी।

Rajasthan Gold Mine: प्रोसेसिंग से प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से करीब 50 हजार युवाओं को रोजगार मिलेगा

Rajasthan Gold Mine: मोटे अनुमान के अनुसार इस खदान में खनन शुरू होने के बाद राज्य को अगले 50 साल में रॉयल्टी (Royalty), प्रीमियम (Premium) आदि के रूप में एक लाख करोड़ रुपए का राजस्व (Revenue) मिलने की संभावना है। राज्य में सोने के खनन और प्रोसेसिंग से प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से करीब 50 हजार युवाओं को रोजगार मिलेगा। वैसे तो आपने देश-विदेश में सोने की खदानों की नीलामी के बारे में सुना होगा, लेकिन राजस्थान में शायद ही आपने ऐसा सुना हो। राजस्थान की भजनलाल सरकार दो सोने की खदानों की नीलामी कर रही है।

यह खदान बांसवाड़ा में स्थित है और नीलामी का टेंडर (auction tender) एक महीने के भीतर ई-पोर्टल (E-Portal) पर प्रकाशित कर दिया जाएगा। भजनलाल सरकार बांसवाड़ा के भूकिया जगपुरा में राज्य की पहली सोने की खदान की नीलामी करेगी। इस नीलामी के बाद भजनलाल सरकार (Bhajanlal Sarkar) के इतिहास में एक नया अध्याय जुड़ेगा। सरकार इस दौरान दो सोने की खदानों की नीलामी करने की तैयारी कर रही है। करीब एक हफ्ते में उम्मीद है कि केंद्र सरकार के ई-पोर्टल (e-portal of central government) पर नीलामी का टेंडर प्रकाशित हो जाएगा। इसके बाद सरकार के पास पैसों की बाढ़ आ जाएगी। जगपुरा बांसवाड़ा में घाटोल तहसील का प्रमुख है, यहां सोने के विशाल भंडार हैं।

Rajasthan Gold Mine: इस क्षेत्र में पहली बार सोने के संकेत देखे गए थे

Banswada News: भारतीय भू- वैज्ञानिक सर्वेक्षण के भू-वैज्ञानिकाे (geologists) द्वारा तांबे की खोज के लिए किए गए अन्वेषण (एक्सप्लोरेशन) के दौरान इस क्षेत्र में पहली बार सोने के संकेत देखे गए थे। इस क्षेत्र में सोने के अयस्क का अनुमान 113.52 मिलियन टन था, जिसमें सोने की धातु की मात्रा 222.39 टन थी। यहां सोने के खनन से 114 हजार टन से अधिक तांबा, 9700 टन निकल और 13 हजार 500 टन कोबाल्ट खनिज प्राप्त होगा।राजस्थान में देश के करीब 25% स्वर्ण भंडार होने की संभावना है ।

बांसवाड़ा के घाटोल तहसील के मुखिया जगपुरा में सोने की विपुल भंडार मिले हैं।राजस्थान में देश के सोने के भंडार का करीब 25 फीसदी हिस्सा हो सकता है। बांसवाड़ा के घाटोल तहसील के मुखिया जगपुरा में सोने का विशाल भंडार मिला है। यह देश के सोने के भंडार का करीब 25 फीसदी हिस्सा बताया जाता है। इन खदानों से बड़ी मात्रा में कोबाल्ट (Cobalt), निकल और तांबा खनिज भी मिलेंगे। खदानों से देश और प्रदेश में इलेक्ट्रॉनिक्स, पेट्रोलियम और पेट्रोकेमिकल्स, बैटरी और एयरबैग जैसे उद्योगों में प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार के साथ-साथ निवेश भी होगा । निकेल से इलेक्ट्रॉनिक उद्योग, बैटरी उद्योग, सिक्कों की ढलाई, आदि को बढ़ावा मिलेगा। कोबाल्ट का उपयोग एयरबैग, पेट्रोकेमिकल क्षेत्र (in the petrochemical sector) में किया जाता है और इससे विदेशी देशों पर निर्भरता कम होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related