fbpx

Hathras Stampede| भोले बाबा आश्रम के बाहर पुलिस अफसरों की संख्या बढ़ रही

Date:

Hathras Stampede: राम कुटीर चैरिटेबल ट्रस्ट आश्रम हरीनगर बिछवां – मैनपुरी में स्थित है। Hathras Stampede शिव नगर मैनपुरी निवासी विनोद बाबू आनंद भोले बाबा के अनुयायी हैं। उन्होंने ही ट्रस्ट का गठन किया था। विनोद बाबू आनंद ने भोले बाबा के अनुयायी भोले बाबा को 10 मई 2024 से 31 मई 2025 तक बिछवां (Bichhwan) आश्रम में रहने की अनुमति मांगी थी। स्वास्थ्य कारणों से ऐसा किया गया था। पुलिस का दावा है कि भोले बाबा बिछवां आश्रम में नहीं रहते हैं।

यह भी पढ़ें – Indian Farm Worker Dies| भारत ने किया दखल तो इटली प्रशासन ने की कार्रवाई

Hathras Stampede: समर्थकों का दावा बाबा आश्रम में मौजूद नहीं

Hathras Stampede death आश्रम के बाहर पुलिस अफसरों और फोर्स की बढ़ती संख्या से तरह-तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं। कुछ लोगों का मानना ​​है कि बाबा को पुलिस ने नजरबंद कर दिया है और वह आश्रम में ही हैं। उच्च अधिकारियों का इशारा मिलते ही उन्हें गिरफ्तार किया जा सकता है। पुलिस भी इस मुद्दे पर खुलकर बात करने को तैयार नहीं है।

हाथरस की घटना के बाद भोले बाबा अपने बिछवां आश्रम पहुंचे थे। देर शाम तक बाबा के समर्थक दावा करते रहे कि वह आश्रम में नहीं हैं। रात 10 बजे तक अनुयायियों ने मान लिया था कि बाबा जी आश्रम में आ गए हैं। आश्रम के बाहर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया। सीओ भोगांव सुनील कुमार सिंह मौके पर पहुंचे। आश्रम के आसपास के इलाके में पुलिस पूरी रात गश्त करती रही। सीओ भोगांव आश्रम में गए और करीब 30 मिनट बाद बाहर निकले। उन्होंने दावा किया कि आश्रम की पूरी तलाशी ली गई है। भोले बाबा (Bhole baba) आश्रम में नहीं है।

Hathras Stampede

Hathras stampede news: भगदड़ में अबतक 121 लोगों की मौत हो चुकी है

Hathras Stampede death उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले के थाना सिकंदराराऊ (sikandrarao) क्षेत्र के गांव रतिभानपुर (ratibhanpur) में भोले बाबा के सत्संग के दौरान अचानक भगदड़ मच गई। भगदड़ में अब तक 121 लोगों की मौत हो गई है। मरने वालों में कई महिलाएं और बच्चे भी हैं।सिकंदराराऊ कांड के बाद से अलीगढ़ और उसके आसपास के जिलों में कोहराम मचा हुआ है। इस हादसे में सत्संग में शामिल होने आए अलीगढ़ के छह लोगों की मौत हो गई। इस हादसे में अकराबाद के गांव पिलखना के मोहल्ला फराहन निवासी छोटे की पत्नी मंजू, उसका बेटा पंकज (उम्र छह वर्ष), शांति देवी पत्नी विजय सिंह, गभाना के गांव नगला पोथी निवासी सुरेश का बेटा शिवराज, जवां सिकंदरपुर निवासी रमेश की पत्नी सावित्री, नगला मेहताब निवासी सर्वेश की मौत हो गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related