fbpx

Anupriya Patel Letter : केंद्रीय राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल ने सीएम योगी को लिखा पत्र

Date:

Anupriya Patel Letter: केंद्रीय राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल ने भर्तियों में आरक्षण का मुद्दा उठाया है। Anupriya Patel Letter: इससे एनडीए में घमासान की चर्चाएं तेज हो गईं हैं। अनुप्रिया के पत्र के बाद उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (Uttar Pradesh Public Service Commission) ने जानकारी दी कि नियमों में साफ लिखा है कि न्यूनतम अर्हता अंक हासिल न करने पर ‘उपयुक्त नहीं पाया गया’ अंकित नहीं किया जाता।

Anupriya Patel Letter

एनडीए (NDA) में सहयोगी केंद्रीय राज्य मंत्री और अपना दल (सोनेलाल) की राष्ट्रीय अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) को पत्र लिखकर भर्तियों में आरक्षण का मुद्दा उठाया है। अनुप्रिया पटेल ने कहा है कि अन्य पिछड़ा वर्ग (backward class) और अनुसूचित जाति/जनजाति (SC/ST) के लिए आरक्षित पदों के लिए विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में बार-बार ‘उपयुक्त नहीं पाया गया’ प्रक्रिया का इस्तेमाल किया जाता है।

Anupriya Patel Letter: भर्तियों में आरक्षण को लेकर लिखा पत्र

Anupriya Letter: इसके बाद इन पदों को अनारक्षित घोषित कर दिया जाता है। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने इस मुद्दे पर सरकार को नियम दिखाए, जिससे साबित होता है कि ऐसी कोई व्यवस्था नहीं है। अगर अभ्यर्थी श्रेणी के लिए न्यूनतम अर्हता अंक हासिल नहीं करते या उपलब्ध नहीं होते तो आयोग को रिक्तियों की श्रेणी बदलने का कोई अधिकार नहीं है।अनुप्रिया केंद्र की एनडीए सरकार (NDA Government) में राज्य मंत्री हैं। बहरहाल, इस पत्र ने राजनीतिक जगत में काफी बहस और निहितार्थ पैदा कर दिए हैं।

अब इस कदम को उनके भावी राजनीतिक करियर से जोड़कर देखा जा रहा है। अनुप्रिया साक्षात्कार आधारित भर्ती प्रक्रिया को भेदभावपूर्ण बता रही हैं। उनकी मांग है कि साक्षात्कार आधारित भर्ती प्रक्रिया वाली प्रतियोगी परीक्षाओं में अनुसूचित जाति/जनजाति और पिछड़े वर्ग के लिए आरक्षित पदों को अनिवार्य बनाया जाए। इसके लिए चाहे कई भर्ती प्रक्रियाएं (Recruitment Processes) क्यों न करनी पड़ें। उनका दावा है कि आरक्षित पदों के लिए अनुपयुक्त घोषित होने पर इस वर्ग के किसी भी अभ्यर्थी का चयन नहीं किया जाएगा। अन्य पिछड़ा वर्ग में अनुसूचित जनजाति/जाति के अभ्यर्थी भी अपनी योग्यता के आधार पर परीक्षाओं के लिए न्यूनतम अर्हता परीक्षा उत्तीर्ण करते हैं। वे साक्षात्कार आधारित परीक्षा (Interview Based Exam) के लिए भी पात्र पाए जाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related