fbpx

Amrish Puri’s birthday today:अमरीश पुरी ने खलनायकी को नयी पहचान दी

Date:

Amrish Puri’s birthday today: अमरीश पुरी एक ऐसा नाम है जो बॉलीवुड में एक ऐसे कलाकार के रूप में अमर रहेगा, जिन्होंने अपनी दमदार आवाज, भाव-भंगिमाओं और दमदार अभिनय से खलनायकी को एक नई पहचान दी। Amrish Puri’s birthday today: अमरीश पुरी का जन्म 22 जून 1932 को पंजाब के नौशेरा गांव में हुआ था। उन्होंने श्रम मंत्रालय में नौकरी से अपने करियर की शुरुआत की थी। उन्होंने सत्यदेव के नाटकों में एक अभिनेता के रूप में अपना करियर शुरू किया।

Amrish Puri's birthday today

वह पृथ्वीराज कपूर (Prithviraj Kapoor )के पृथ्वी थिएटर में अपनी पहचान बनाने में सक्षम थे। जब राज कपूर एक नाटक देख रहे थे तो ऑडिटोरियम दर्शकों से भरा हुआ था। नाटक समाप्त होने के बाद राज कपूर (Raj Kapoor) ने अमरीश पुरी को गले लगाया और उनसे कहा कि एक दिन वे फिल्म इंडस्ट्री की शान बनेंगे। हिमाचल प्रदेश के शिमला से (from Shimla, Himachal Pradesh) बीए (BA) करने वाले अमरीश पुरी में मुंबई चले गए। उनके बड़े भाई मदन पुरी पहले से ही हिंदी फिल्मों में एक जाने-माने खलनायक थे। अमरीश पुरी 1954 में अपने पहले स्क्रीन टेस्ट में असफल हो गये।

Amrish Puri’s birthday today: उन्होंने बतौर विलेन रेशमा और शेरा से अपने करियर की शुरुआत की

Amrish puri ने अपने फ़िल्मी करियर की शुरुआत 40 साल की उम्र में की थी। उन्होंने 1971 में बतौर विलेन उन्होंने रेशमा और शेरा से अपने करियर की शुरुआत की थी। हालांकि, इस फिल्म ने दर्शकों पर वो असर नहीं छोड़ा जो वो बनाना चाहते थे। बॉम्बे टॉकीज के बैनर से जुड़ने के बाद उन्हें बड़े बैनर की फिल्में मिलने लगीं। अमरीश पुरी का करियर खलनायकी पर टिका था।

इनमें निशांत (Nishant) और मंथन (manthan) जैसी सुपरहिट फिल्में शामिल हैं। 1983 में गोविंद निहलानी की प्रदर्शित कलात्मक अर्धसत्य में अमरीश पुरी ने वो किरदार निभाया जिसे वो हमेशा से पसंद करते थे। इस फिल्म में उनके अपोजिट आर्ट फिल्म के अजेय योद्धा ओम पुरी (Om Puri) थे। अमरीश पुरी ने हरमेश मल्होत्रा ​​की 1986 की सुपरहिट फिल्म नगीना (super hit movie nagina) में सपेरे का किरदार निभाया था, जो कि दर्शकों को बहुत ही पसंद आया था ।इच्छाधारी नाग पर आधारित इस फिल्म में श्रीदेवी और उनके बीच टकराव देखने लायक था।

Amrish Puri’s birthday today:शेखर कपूर 1987 में एक और फिल्म बनाना चाहते थे

Amrish Puri gave a new identity to villainy: वर्ष 1987 में उनके करियर में अभूतपूर्व परिवर्तन आया। शेखर कपूर (Shekhar Kapur)1987 में एक और फिल्म बनाना चाहते थे जो बच्चों पर आधारित हो और उनकी पिछली फिल्म मासूम से प्रेरित हो। फिल्म का नाम था इनविजिबल मैन। अनिल कपूर, जिन्हें फिल्म के हीरो के तौर पर चुना गया था, उन्हें खलनायक की भूमिका के लिए चुना गया। ऐसा इसलिए क्योंकि कहानी की मांग थी कि खलनायक एक बुरा अभिनेता हो। इस भूमिका के लिए निर्देशक ने अमरीश पुरी को चुना। फिल्म की सफलता के बाद यह विकल्प सही साबित हुआ। फिल्म में अमरीश पुरी के किरदार मोगैम्बो का नाम (name of mogambo) ही इस फिल्म के नाम पर पड़ गया।
भारतीय अभिनेता अमरीश पुरी, जिन्हें स्टीफन स्पीलबर्ग की इंडिना जोन्स एंड द टेंपल ऑफ डूम जैसी विदेशी फिल्मों में काम करने का मौका कम ही मिलता है, उन्होंने इस फिल्म में काली भक्त का खलनायक किरदार निभाया था। इससे उन्हें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति भी मिली। इस फिल्म के बाद उन्हें हॉलीवुड के कई ऑफर मिले। हालांकि, उन्होंने उन्हें ठुकरा दिया क्योंकि उन्हें लगा कि हॉलीवुड भारतीय मूल के अभिनेताओं का अपमान करता है। अपने दमदार अभिनय से लगभग चार दशक तक दर्शकों को मंत्रमुग्ध करने वाले अभिनेता अमरीश पुरी (actor Amrish Puri ) ने इस दुनिया को 12 जनवरी 2005 अलविदा कह गये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related